कवर्धाछत्तीसगढ़

शिक्षा और मध्यान्ह भोजन गुणवत्ता जांच करने प्रशानिक अधिकारी, बीईओ, बीआरसी और संकूल समन्वयकों ने एक साथ स्कूलों का औचक निरीक्षण किया

एसडीएम ने औचक निरीक्षण में कवर्धा शहर के पांच स्कूलों में 5 समूहों को कारण बताओं नोटिस जारी किया।

 

कवर्धा, 01 दिसम्बर 2022। कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे के निर्देश पर आज सभी स्कूलों, आश्रम और छात्रावासों का प्रशानिक अधिकारी एसडीएम, जिला शिक्षा अधिकारी सहित तहसीलदार, नायब तहसीलदार, बीईओ, बीआरसी और संकुल समन्वयकों ने एक साथ औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान वहां के अध्यापन कार्य, शिक्षकों की उपस्थिति सहित मध्यान्ह भोजन व्यवस्था का अवलोकन किया गया। निरीक्षण के दौरान प्रशासनिक अधिकारियों और बीईओ, बीआरसी सहित संकुल समन्वयकों ने बच्चों से उनके अध्यापन कार्यों, शिक्षकों की नियमित उपस्थिति और मध्यान्ह भोजन में परोसे जाने वाले पोषण आहार के बारे में विस्तृत जानकारी ली। रसोई घरों में पहुंचकर स्कूली बच्चां के लिए बन रहे पोषण आहार मध्यान्ह भोजन की जांच की। निरीक्षण में अधिकांश स्कूलो में मध्यान्ह भोजन में मैन्यू का पालन किया गया वही कुछ स्कूलों में सचालित मध्यान्ह भोजन में कमियां पाई गई।

कवर्धा एसडीएम श्री पीसी कोरी ने कवर्धा शहर एवं आसपास के 10 से अधिक स्कूलों को औचक निरीक्षण किया और अध्यापन कार्य सहित पोषण आहार की गुणवत्ता की जांच की। निरीक्षण के दौरान कवर्धा शहर के पांच स्कूलों में मध्यान्ह भोजन में मैन्यू का पालन नहीं करने पर नोटिस जारी किया है। इन समूहो में प्राथमिक शाला स्कूल कैलाशनगर के सरस्वती महिला स्व-सहायता समूह, माध्यमिक स्कूल कैलाश नगर के जय मां दुर्गा महिला स्व-सहायता समूह, शंकर नगर प्राथमिक स्कूल के जय मां चंडी महिला स्व-सहायत समूह, सत्तीवार्ड के प्रायमरी और माध्यमिक स्कूल के जय सतनाम महिला स्वसहायता समूह शामिल है।

इसी प्रकार जिला शिक्षा अधिकारी श्री महेन्द्र गुप्ता ने अपने दल के साथ स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट हिन्दी माध्यम विद्यालय कवर्धा एवं शासकीय प्रमुख प्राथमिक शाला कवर्धा का औचक निरीक्षण कर बच्चों के साथ मध्यान्ह भोजन ग्रहण कर मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता जांच की। जिला दल में जिला शिक्षा अधिकारी श्री एम.के. गुप्ता के साथ सहायक संचालक श्री यू.आर. चन्द्राकर, श्री सतीश यदु, एम.आई.एस. प्रशासक व श्री प्रेम प्रकाश बलभद्र सम्मिलित रहे। सहायक विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी श्री अनिल केशरवानी द्वारा संयुक्तरूप से शासकीय प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक शाला कैलाश नगर एवं सत्तीवार्ड का निरीक्षण किया गया तथा खाद्यान की मात्रा एवं गुणवत्ता सुधार के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। जिला मिशन समन्वयक श्री विनोद श्रीवास्तव द्वारा शास. पूर्व माध्यमिक शाला सत्ती वार्ड में निरीक्षण कर मध्यान्ह भोजन ग्रहण किया गया वही कस्तुरबा गांधी बालिका आवसीय विद्यालय कवर्धा का निरीक्षण तहसीलदार कवर्धा श्री मनीष वर्मा, सहा. विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी कवर्धा श्री अजय चन्द्रवंशी एवं संकुल शैक्षिक समन्वयक श्री दुर्गेश पाण्डेय द्वारा किया गया तथा संस्था में संचालित मध्यान्ह भोजन बच्चों के साथ ग्रहण कर गुणवत्ता की जांच की गई। सहायक कार्यक्रम समन्वयक (समग्र शिक्षा) श्री शिव कुमार सिंहा एवं सहा.विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी कवर्धा कु. मुदिता गुप्ता द्वारा शास. प्राथमिक शाला अटल अवास एवं शास. प्राथमिक शाला खालसा कवर्धा में संचालन कर्ता महिला स्वसहायता समूह द्वारा बच्चों के लिए तैयार मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता का जांच कर भोजन ग्रहण किया गया।

मध्यान्ह भोजन योजना शासन के निर्देशानुसार नियमित रूप से प्रत्येक विद्यार्थियों के लिए निर्धारित खाद्यान की मात्रा सहित मैन्यू अनुरूप दाल, चावल, हरी सब्जी, गरम भोजन के रूप में आचार के साथ प्रदान किया जा रहा है। मैन्यू अनुरूप निर्धारित तिथि को पौष्टिक सोया बड़ी की सब्जी एवं सुगंधित सोया दुग्ध निर्धारित मात्रा में विद्यार्थियों को उपलब्ध कराया जा रहा है। शहर के विभिन्न विद्यालयों का अधिकारियों, संकुल प्रभारियों व संकुल शैक्षिक समन्वयकों द्वारा औचक निरीक्षण कर मध्यान्ह भोजन संचालन की स्थिति एवं गुणवत्ता की जांच की गयी। संचालनकर्ता महिला स्वसहायता समूह द्वारा संचालित मध्यान्ह भोजन में किसी प्रकार का कोई गंभीर शिकायत संज्ञान में नही आया है।

 

समय-समय पर स्कूल और आश्रम छात्रावासों का औचक निरीक्षण करें-कलेक्टर

कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने शिक्षा गुणवत्ता अभियान के तहत जिला शिक्षा अधिकारी और सभी एसडीएम को अपने क्षेत्र भ्रमण के दौरान स्कूल, आंगनबाड़ी, आश्रम तथा छात्रावास सहित अनुदान प्राप्त स्कूलों का औचक निरीक्षण के निर्देश दिए है। निरीक्षण के दौरान मध्यान्ह भोजन, आंगनबाड़ी केन्द्रों में संचालित मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान, रेडीटूईट वितरण सहित टीकारण अभियान और शिशुवती माताओं तथा गर्भवती महिलाओं का समय-समय होने वाले टीकाकरण अभियान का भी औचक जांच करें।

Related Articles

Back to top button
× How can I help you?