कवर्धाछत्तीसगढ़

सहायक प्राध्यापक ए. डी. बघेल को मिली डी. लिट. (D. Litt.) की मानद उपाधि

सहायक प्राध्यापक ए. डी. बघेल को मिली डी. लिट. (D. Litt.) की मानद उपाधि

शासकीय राजमाता विजयाराजे सिंधिया कन्या महाविद्यालय कवर्धा के सहायक प्राध्यापक श्री अगर दास बघेल को युनिवर्सिटी आफ सेन्ट्रल अमेरिका ने डी. लिट. (Doctor of Letters) की मानद उपाधि प्रदान की है। श्री अगर दास बघेल को यह उपाधि उनके द्वारा निरंतर 16 वर्षों से किये जा रहे विद्यालयीन एवं महाविद्यालयीन शैक्षणिक कार्यों के साथ – साथ सामाजिक कार्यों के लिये प्रदान की गई । बता दें कि श्री अगर दास बघेल वर्तमान में शासकीय राजमाता विजयाराजे सिंधिया कन्या महाविद्यालय कवर्धा में समाजशास्त्र विषय के सहायक प्राध्यापक के पद पर पदस्थ हैं। इससे पूर्व वे सुदूर वनांचल व जनजाति बाहुल्य क्षेत्र बोक्करखार व पेण्डरी में वर्ष 2008 से 2022 तक लगातार 14 वर्षों तक सहायक शिक्षक के पद पर कार्य किये। वर्ष 2019 के सहायक प्राध्यापक भर्ती परीक्षा में समाजशास्त्र विषय में प्रथम स्थान लाकर सहायक प्राध्यापक के पद पर चयनित हुए। इससे पूर्व वे 6 बार CGPSC मुख्य परीक्षा, साक्षात्कार व सहायक विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी के पद हेतु साक्षात्कार भी दे चुके हैं।

श्री अगर दास बघेल की शैक्षणिक योग्यता की बात करें तो उन्होंने शासकीय पीजी महाविद्यालय कवर्धा से स्नातक एवं स्नातकोत्तर की डिग्री हासिल की। इसके अलावा राष्ट्रीय मानव अधिकार संस्थान नई दिल्ली से मानव अधिकार में डिप्लोमा तथा इंदिरा गांधी मुक्त विश्वविद्यालय नई दिल्ली से एम.एस.डब्ल्यू. (MSW) की डिग्री भी हासिल की ।

वर्तमान में वे शासकीय राजमाता विजयाराजे सिंधिया कन्या महाविद्यालय कवर्धा में समाजशास्त्र विषय में सहायक प्राध्यापक के रूप में शैक्षणिक कार्य के अलावा छात्राओं को महाविद्यालय में पीएससी व अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की निःशुल्क कोचिंग व कैरियर मार्गदर्शन भी दे रहे हैं।

श्री अगर दास बघेल को डी. लिट. की मानद उपाधि की उपलब्धि मिलने पर महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ. बी. एस. चौहान, प्राध्यापकगण डाॅ. श्रीमती के. तिग्गा, श्री असित कुमार मिश्रा, डाॅ. बीरेन्द्र कुमार जाँगड़े, श्री लवन सिंह कँवर, श्री शिवराम चन्द्रवंशी, डाॅ. एस. आर. टण्डन, श्री राजा झारिया, श्रीमती प्रीति सिंह परिहार, श्री शीतल साहू, प्रत्युष श्रीवास्तव, रामचंद्र कुम्भकार व पूरे महाविद्यालय परिवार, मित्रजनों व परिवारजनों ने बधाई व शुभकामनाएँ दी हैं।

Related Articles

Back to top button
× How can I help you?